Wednesday, 1 January 2014

ग्रह बाधा में करें उपाय

++ अगर बनते हुए कार्यों में बिना वजह बाधा आ रही हो तो शुक्ल पक्ष के किसी भी मंगलवार से सुन्दर काण्ड का पाठ प्रारम्भ करके प्रतिदिन एक बार लगातार एक सौ आठ दिन तक पाठ करने से बाधा दूर होकर कार्य बनने लगते हैं। 
++ शनि की साढ़े साती परेशान कर रही हो तो कष्ट शमन के लिए शनि ग्रह से सम्बंधित मन्त्रों का जप करने के साथ-साथ शनि की वस्तुओं का दान करना चाहिए। 
++  सूर्य ग्रह के दोषपूर्ण होने से ह्रदय रोग की सम्भावना रहती है। इससे बचाव के लिए श्री आदित्य ह्रदय स्त्रोत का पाठ प्रतिदिन श्रद्धापूर्वक करना चाहिए। इस पाठ के करने से धन लाभ, प्रसन्नता, पदोन्नति तथा अन्य शुभ फल भी मिलते हैं। 
++ जीवन यापन के लिए पर्याप्त आय के साधन होने के बावजूद अगर लिया गया ऋण चुकता नहीं हो पा रहा है तो शुक्ल पक्ष के मंगलवार से व्रत रखते हुए ऋण मोचक मंगल स्त्रोत का पाठ करना चाहिए। व्रत में नमक का सेवन न करें। 
++ यदि जीवन में लगातार दुर्घटनाओं का सामना करना पड़ रहा हो तो प्रतिदिन महामृत्यंजय मन्त्र, विष्णुसहस्त्रनाम, राम रक्षा कवच और शक्ति कवच का जप करते हुए पशु-पक्षियों व मछली को दाना डालना चाहिए।
++ संतान प्राप्ति में बाधा आ रही हो तो अन्य उपायों के अलावा गौ पालन अथवा गौ सेवा करना शुभ होता है। गौ सेवा करने से जहां शुक्र ग्रह के अशुभ प्रभाव दूर होते हैं वहीं प्रत्येक बुधवार को गौ माता को हरा चारा खिलाने से बुध ग्रह के दोषों का शमन होता है।-- प्रमोद कुमार अग्रवाल, ज्योतिष विद्या विशारद (फलित ज्योतिष और वास्तु सलाहकार) 
  

No comments:

Post a Comment